X
एक हज़ारों में, मेरी बहना है - हिंदी कविता | FullFunCity
Festival Special Independence Day Interesting Texts Kids Poems Poetry Raksha Bandhan Top Trending

एक हज़ारों में, मेरी बहना है – हिंदी कविता

Written by Jiya Sharma

फूलों का तारों का, सबका कहना है।

एक हज़ारों मे, मेरी बहना है।

सारी उमर हमे संग रहना है।

फूलों का तारों का, सबका कहना है।

भोलीभाली जापानी गुड़िया जैसी तू,

प्यारी प्यारी जादू की पुड़िया जैसी तू।

डैडी का मम्मी का सबका कहना है,

एक हज़ारों मे, मेरी बहना है।

सारी उमर हमे संग रहना है।

ये ना जाना दुनिया ने तू है क्यूँ उदास,

तेरी प्यारी आँखों मे प्यार की है प्यास।

आ मेरे पास आ, कह जो कहना है,

एक हज़ारों मे, मेरी बहना है।

सारी उमर हमे संग रहना है।

जब से मेरी आँखों से हो गयी तू दूर,

तब से मेरे जीवन के सपने हैं चूर।

आँखों मे नींद ना दिल मे चैना है,

एक हज़ारों मे, मेरी बहना है।

सारी उमर हमे संग रहना है।

देखो हम तुम दोनो हैं इक डाली के फूल,

मै ना भूला तू कैसे मुझको गयी भूल।

आ मेरे पास आ, कह जो कहना है,

एक हज़ारों मे, मेरी बहना है।

सारी उमर हमे संग रहना है।

फूलों का तारों का, सबका कहना है।
                                    -Anand Bakshi

Leave a Comment